लहसुन के फायदे … Benefits of Garlic..

लहसुन का उपयोग खाद्य सामग्री के रूप में और इसकी चिकित्सा गुणों के लिए एक दवा के रूप में किया जाता है.

लहसुन का उपयोग खाद्य सामग्री के रूप में और इसकी चिकित्सा गुणों के लिए एक दवा के रूप में किया जाता है. हाल के दिनों में क्लिनिकल प्रयोगों ने लहसुन के उपचार मूल्य के बारे में कई प्राचीन मान्यताओं की पुष्टि की है. लहसुन पुरानी सीसा विषाक्तता के detoxification में मदद करता है. भोजन में लहसुन के दैनिक उपयोग का शरीर पर बहुत लाभकारी प्रभाव पड़ता है खासकर रक्त प्रणाली और हार्ट पर.

जब लहसुन को क्रश किया जाता है, तो यह ऐलिसन रिलीज़ करता है. ऐलिसन एक सक्रिय घटक है जो लहसुन की विशिष्ट गंध के लिए जिम्मेदार है. प्रभावी होने के लिए, लहसुन में ऐलिसन की गंध आनी चाहिए.
लहसुन की मदद से त्वचा के छिद्रों के माध्यम से, शरीर में से जहर का निष्कासन किया जा सकता है।
बड़ी मात्रा में लहसुन का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि यह पेट की समस्याएं पैदा कर सकता है।

लहसुन के फायदे

हाई ब्लड प्रेशर

लहसुन में छोटे धमनियों की ऐंठन को कम करने की क्षमता है जिसके परिणामस्वरूप दबाव और तनाव से राहत मिलती है. रक्तचाप को कम करने के लिए यह एक प्रभावी उपाय है. यह पल्स को धीमा करने और दिल की धड़कन को संशोधित करने में भी उपयोगी है. चक्कर आना और सांस की तकलीफ के लक्षणों को कम करने में लहसुन फायदेमंद है

पेट का कैंसर

लहसुन की खपत पेट के कैंसर को रोकती है और इसके लिए एक संभावित इलाज भी है.
लहसुन खाने से पेट में संकुचन होता है और आंतों को अधिक काम नहीं करना पड़ता है जिसके कारण पेट साफ़ रहता है. यह लिवर को उत्तेजित करके पेट की दीवारों की केशिकाओं में ऑक्सीजन और रक्त के प्रवाह को भी सहायता करता है.

वज़न घटना

अत्यधिक वजन बढ़ने के कारण कई स्वास्थ्य समस्याएं आती हैं. स्वस्थ जीवन के लिए आइडियल बॉडी वेट बनाए रखना आवश्यक है. लहसुन वजन घटाने के लिए एक उत्कृष्ट हर्ब हो सकता है. 2 लहसुन लेकर इसे छोटे टुकड़ों में काट लें और इसे पानी से निगल लें. इसे हर रोज़ सुबह खाली पेट एक महीने के लिए करें.

गंजापन

गंजापन या alopecia में बाल बहुत तेज़ी से झड़ते हैं और नए बाल भी नहीं आते. बाल्ड स्पॉट पर त्वचा बहुत ऑयली और चिकनी हो जाती है क्यूंकि स्किन के पोर्स ब्लाक हो जाते हैं. कई कारण हैं जो संभवत: इस गंजापन को गति प्रदान कर सकते हैं, तनाव, रक्त विकार, एक्जिमा, शरीर में विषाक्त पदार्थ आदि. लहसुन में ऐसे गुण होते हैं जो बालों की ग्रोथ के लिए फायदेमंद है इसलिए हर रोज़ लहसुन ज़रूर खाएं.

पेट में दर

पेट में दर्द होने के कई कारण हैं. पेट में दर्द होना बहुत आम है और कई बार यह अपच के कारण होता है. नमक के साथ लहसुन का रस लेने से इस दर्द में आराम मिलता है.

दस्त

विभिन्न प्रकार के दस्त को लहसुन से ठीक किया जा सकता है. कई आंत विकारों के उपचार के लिए ताजा लहसुन फली बहुत उपयोगी होते हैं. आंतों में कई फायदेमंद जीव हैं जो पाचन में सहायता करते हैं और लहसुन में फायदेमंद जीवों को हानि पहुंचाए बिना हानिकारक बैक्टीरिया को नष्ट करने की शक्ति है

हार्ट अटैक

धमनियों के सख्त होने से उच्च रक्तचाप और दिल का दौरा पड़ सकता है. लहसुन रक्त वाहिकाओं में कोलेस्ट्रॉल को तोड़ने में मदद करता है और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में प्रभावी है. यह धमनियों से अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल को हटा देता है और दिल की सामान्य क्रियाकलाप के लिए रास्ता देता है. लहसुन खाने से पेट की गैस निकल जाती है और दिल को दबाव से राहत मिलती है.

गठिया

कुपोषण, मोटापे, शारीरिक तनाव, ग्रंथियों की कमी, कैल्शियम की कमी और हाइड्रोक्लोरिक एसिड कुछ प्रमुख कारण हैं जिससे गठिया होने की सम्भावना होती है जोकि जोड़ों का रोग है. लहसुन का प्रयोग गठिया के उपचार के लिए किया जाता है. लहसुन में एंटी इंफ्लेमेटरी तत्व होते हैं जो गठिया के उपचार में बहुत लाभदायक हैं.

कैंसर

पूरे विश्व में लाखों लोग कैंसर से प्रभावित हैं. लहसुन का अर्क और रस कैंसर से लड़ने में काफी असरदार पाया गया हैं.

आमाशय का फोड़ा

गैस्ट्रिक अल्सर एक बैक्टीरियल संक्रमण है जो पेट के अस्तर में दर्दनाक घावों और अल्सर का कारण बनता है. गैस्ट्रिक अल्सर के उपचार में लहसुन बहुत उपयोगी है. इस से पीड़ित व्यक्ति को रोजाना भोजन के बाद कच्चे लहसुन के तीन से चार लौंग खाने से इस समस्या से आराम मिलता है.

पेट के कीड़े

कब्ज़ आंतों में कीड़े होने का प्रमुख कारण है. स्वस्थ आंतों के लिए पेट का साफ़ होना आवश्यक है. लहसुन खाने से पेट के कीड़े ख़तम हो जाते हैं. कीड़ों से छुटकारा पाने के लिए शहद के साथ 4-5 लहसुन खाने से फायदा होता है. इसे दिन में 2-3 बार ले सकते हैं.

बाल तोड़

बैक्टीरिया का संक्रमण आम तौर पर फोड़ा होने का कारण होता है. यह दर्द, लालिमा और सूजन का कारण बनता है. बाल तोड़ को लहसुन के इस्तेमाल से जल्दी ठीक किया जा सकता है. सर्वोत्तम परिणामों के लिए लहसुन का पेस्ट केवल प्रारंभिक अवस्था में फोड़ा पर लगाना चाहिए. पस बन जाने के बाद लहसुन लगाना लाभकारी नहीं है.

कीड़ा काट जाना

कुछ इन्सेक्ट बाईट ज़हरीले होते हैं. कई बार हम यह नहीं जानते कि किस कीड़े ने काट लिया है. जहरीली कीट के काटने के प्रभाव को खत्म करने के लिए लहसुन का रस लगाना चाहिए.

जूँ

स्वच्छता की कमी के कारण बालों में जूँ हो जाती है. जूँ होने के कारण बालों में खुजली होती है जो बालों के झड़ने की वजह बनती है क्योंकि जूँ बालों को कमज़ोर बना कर देती है. लहसुन को पीसकर नींबू के रस में मिलाएं. रात को सोने से पहले स्कैल्प पर लगाएँ और अगली सुबह शैम्पू से बाल धो लें. ऐसा करने से कुछ ही दिनों में आराम मिलेगा.

रक्त विकार

रक्त में लाल रक्त कोशिकाओं, सफेद रक्त कोशिकाओं, प्लाज्मा और प्लेटलेट होते हैं. इनमें कोई समस्या होने पर रक्त विकार हो सकता है. कार्य जैसे टोक्सिन निकालना, रक्त परिसंचरण, रक्त को पुनः सशक्त करना स्वस्थ ब्लड के लिए बहुत ज़रूरी है. लहसुन इन कार्यों को बढ़ावा देने में सहायक है.

छींक आना

लगातार छींकने से बहुत अधिक परेशानी हो सकती है और यह बहुत draining भी है.
इस स्थिति वाले व्यक्ति को लहसुन खाने से राहत मिल सकती है

मच्छर मारक

जहां हम रहते हैं, पर्यावरण में मच्छरों की मौजूदगी जानलेवा हो सकती है क्यूंकि मच्छर से विभिन्न प्रकार के रोग हो सकते हैं. जहां हम रहते हैं, पर्यावरण में मच्छरों की मौजूदगी जानलेवा हो सकती है क्यूंकि मच्छर से विभिन्न प्रकार के रोग हो सकते हैं. लहसुन मच्छर मारक के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है. कुछ सूखे लहसुन हिंग के साथ कोयले पर जलाने से मच्छर भाग जाते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.